Home Technology Tips SIM Full Form क्या है और इसके प्रकार

SIM Full Form क्या है और इसके प्रकार

53
0
SHARE
SIM Full Form, SIM Card in hindi, sim का पूरा नाम क्या हैं, sim meaning इन hindi, हिंदी में सिम का पूरा नाम,
सिम कार्ड एक प्लास्टिक की चिप होती है जिसके अंदर एक माइक्रो चिप लगी होती हैं. जो स्मार्टफोन यूजर की जानकारी को सेव रखती है.

SIM जिसका इस्तेमाल हर mobile यूजर करता हैं और बिना सिम कार्ड के किसी भी फोन का इस्तेमाल नही किया जा सकता है. लेकिन उनमे से कुछ ही users है जो जानते है कि SIM Card क्या है? SIM full form क्या है और यह कितने प्रकार की होती हैं.

आज के इस technology के समय में smartphones में sim पाई जाती हैं और एक smartphone sim के बिना अधुरा हैं. आज के समय में भारत में कई mobile sim card provider companies है जिनमे Airtel, Idea, Vodafone, Jio और BSNL इत्यादि हैं. हम इस आर्टिकल में जानेंगे कि SIM क्या है? SIM full form क्या होता हैं और सिम कितने प्रकार का होता है?

SIM card क्या हैं?

सिम कार्ड एक प्लास्टिक की चिप होती है जिसके अंदर एक माइक्रो चिप लगी होती हैं. सही से जाने तो यह एक छोटी चिप होती है जो स्मार्टफोन यूजर की जानकारी को सेव रखती है. इसके कई networks है जैसे कि GSM, CDMA, 2G, 3G 4G और 2019 में 5G Network.

SIM Full Form क्या हैं?

हिंदी में SIM का पूरा नाम “ग्राहक पहचान मॉड्यूल” है और अंग्रेजी में sim full form “Subscriber Identity Module or Subscriber Identification Module” है. अब आप सिम का पूरा नाम जान ही गए होंगे. तो अब जानते है कि सिम कितने प्रकार का होता हैं.

सिम कितने प्रकार का होता हैं ?

अगर हम sim के प्रकार की बात करे तो तो यह 4 प्रकार होता हैं. आपने पहले देखा होगा कि पहले sim बड़ा, फिर उससे छोटा और फिर उससे भी छोटा हो गया. इसका मतलब यह है कि ये आकार के आधार पर 3 प्रकार थे. लेकिन अब एक और sim आने वाला है जिसे e-sim कहते हैं.

सिम के पहले 3 प्रकारों में बड़ी वाली MINI SIM, उससे थोड़ी छोटी MICRO SIM और सबसे छोटी NENO SIM है जिसके इस्तेमाल हम कर रहे है. लेकिन अब बात आती है कि e-SIM क्या है और इसके क्या फायदे हैं?

ई-सिम क्या हैं और इसके फायदे

हिंदी में e-SIM का पूरा नाम “इम्बेडेड ग्राहक पहचान मॉड्यूल” है. अंग्रेजी में e-sim full form
embedded Subscriber Identity Module ” मतलब यह हैं कि यह smartphone में पहले से ही एम्बेड की हुई होती है. यह तकनीक सॉफ्टवेयर के जरिए काम करती है.

eSIM स्मार्टफोन में एम्बेड की जाती है. इसे फोन से अलग नहीं किया जा सकता है. इसका सीधा मतलब यह है कि आपका सिम कार्ड कभी खो नहीं सकता है. इसके साथ ही हर मोबाइल में अलग-अलग साइज की सिम लगाई जाती है लेकिन eSIM के साथ इस बात की चिंता की जरुरत नहीं है.

स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां सिम का साइज छोटा कर रही हैं जिससे स्पेस को बढ़ाया जा सके. वहीं, अगर Sim Card Slot को ही फोन से हटा दिया जाए तो कंपनियां इस स्पेस को अन्य उपयोगी कंपोनेंट्स के लिए इस्तेमाल कर पाएंगी. वहीं, जब फोन में सिम कार्ड स्लॉट की जगह खाली होगी तो फोन में नई तकनीक का स्कोप ज्यादा होगा.

अब आप जान गए होंगे कि SIM की full form क्या है और यह कितने प्रकार की होती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here